सामग्री (विषयवसतु)

की सूचीvideos

Videos

इस्लाम ही मानवता के लिए समाधान है

इस्लाम ही मानवता के लिए समाधान है

इस्लाम ही मानवता के लिए समाधान हैः अल्लाह सर्वशक्तिमान ने मानवजाति को एक महान उद्देश्य के लिए पैदा किया है, और उनके लिए उसकी ओर मार्गदर्शन का प्रबंध किया है। चुनाँचे उनकी ओर सन्देष्टा भेजे, उन पर अपनी पुस्तकें अवतरित कीं। यहाँ तक कि इस अनुकम्पा को परिपूर्ण कर दिया और इस ऋंखला को हमारे सन्देष्टा मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम पर संपन्न कर दिया। क्योंकि अल्लाह ने आपको अंतिम सन्देष्टा बनाकर रहती दुनिया तक सभी मानवजाति के लिए संदेशवाहक बनाया है। अतः मानवजाति के लिए जीवन में सौभाग्य, तथा परलोक में मोक्ष और सफलता केवल इस्लाम के मार्ग में है, और वही उनके सभी समस्याओं का समाधान है।प्रस्तुत व्याख्यान में, यह स्पष्ट किया गया है कि इस्लाम ही मानवता के लिए एकमात्र समाधान क्यों है।

पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के संदेश की महानता

पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के संदेश की महानता

पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के संदेश की महानता : इसमें कोई संदेह नहीं कि पैगंबर मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम पर अवतरित संदेश मानवजाति के लिए अल्लाह का सबसे संपूर्ण और अंतिम संदेश है। इसलिए मानवजाति के लिए इस दुनिया में सौभाग्य और परलोक में मोक्ष प्राप्त करने का एकमात्र रास्ता पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के लाए हुए अंतिम ईश्वरीय संदेश का अनुसरण व पालन करना है। प्रस्तुत व्याख्यान में, हमारे पैगंबर सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के संदेश की महानता के कुछ पहलुओं का वर्णन किया गया है।

रमज़ान के अहकाम व मसायल से संबंधित 50 प्रश्न

रमज़ान के अहकाम व मसायल से संबंधित 50 प्रश्न

प्रस्तुत वीडियो में रमज़ान के महीने के अहकाम व मसायल से संबंधित 50 प्रश्नों के उत्तर दिए जिनके बारे में अक्सर लोग

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणा - 3

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणा - 3

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणाः इस धरती पर मानवजाति अनेक पूजा पत्रों की उपासना और आराधना करती है, बल्कि वस्तुस्थिति यह है कि एक ही धर्म के मानने वालों में कई पूज्यो की धारणा पाई जाती है, किन्तु वास्तविकता यह है कि धर्म के मूल ग्रंथों के अध्य्यन से यह स्पष्ट होता है कि हर धर्म में केवल एक ही पूज्य की धारणा मिलती है। इस वीडियो में वेश्विक धर्मों जैसे किः हिन्दुमत, सिखमत, ईसाई-धर्म, यहूदी-धर्म, पारसी धर्म... के मूल ग्रंथों के हवालों से यह प्रमाणित और सिद्ध किया गया है कि सभी धर्मों में केवल एक पूज्य की उपासना का आदेश दिया गया है।

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणा - 2

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणा - 2

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणा - 2

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणा

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणा

वेश्विक धर्मों में पूज्य की धारणा

सुन्नत पर चलने का महत्व

सुन्नत पर चलने का महत्व

सुन्नत पर चलने का महत्व

पवित्र क़ुर्आन की तिलावत करने की फज़ीलत

पवित्र क़ुर्आन की तिलावत करने की फज़ीलत

 पवित्र क़ुर्आन की तिलावत करने की फज़ीलत

सूरह इख़्लास

सूरह इख़्लास

 सूरह इख़्लास

नोबल कुरान हिन्दी अनुवाद के साथ

नोबल कुरान हिन्दी अनुवाद के साथ

नोबल कुरान हिन्दी अनुवाद के साथ

मुहम्मद रसूलुल्लाह की गवाही का अर्थ

मुहम्मद रसूलुल्लाह की गवाही का अर्थ

 मुहम्मद रसूलुल्लाह की गवाही का अर्थ

ज़कात क हुक्म

ज़कात क हुक्म

ज़कात क हुक्म